Politics

BSF जवान की अपील पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लिया एक्शन !

सोशल मीडिया पर एक BSF के जवान का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वो कहते हुए दिखाई दे रहा है कि “देशवासियों मैं आपसे एक अनुरोध करना चाहता हूं, हम लोग सुबह 6 बजे से शाम 5 बजे तक, लगातार 11 घंटे इस बर्फ में खड़े होकर ड्यूटी करते हैं l कितना भी बर्फ हो, बारिश हो, तूफान हो, इन्‍हीं हालातों में हम ड्यूटी कर रहे हैं l” हम आपको बता दें कि इस जवान का नाम तेज बहादुर यादव है, और फेसबुक पर बीएसएफ के इस जवान की पीएम से अपील को 70 लाख से ज्यादा लोग देख चुके हैं और करीब चार लाख लोग शेयर कर चुके हैं l हम आपको बता दें कि मोदी सरकार में सोशल मीडिया के जरिये भी लोगों की समस्याओं को हल करने का प्रयास किया जाता है और यही नही मोदी सरकार के कई मंत्री और सासंद सोशल मीडिया पर एक्टिव भी रहते हैं l तेज बहादुर यादव की ये अपील जैसे ही गृहमंत्री राजनाथ सिंह तक पहुंची तो उन्होंने जवान की शिकायत को लेकर जांच के आदेश दे दिए l गृहमंत्री ने इस बाबत एक ट्वीट भी किया l

Rajnath-singh

गृहमंत्री ने गृह सचिव को बीएसएफ से रिपोर्ट तलब कर जरुरी कार्रवाई करने का आदेश दिया है l वहीं BSF ने भी जवान की शिकायत पर डीआईजी स्तर के एक अधिकारी को जम्मू-कश्मीर में एलओसी की उस पोस्ट पर भेजा है जहां जवान तैनात है l BSF ने बयान जारी कर कहा है, “बीएसएफ अपने जवानों की जरूरतों को पूरा करने के लिए तत्पर रहता है l अगर किसी एक शख्स को कोई परेशानी हुई है तो इसकी जांच होगी l इस मामले की जांच के लिए एक उच्च अधिकारी मौके पर पहुंच चुका है l”

BSF के उचाधिकारियों की शिकायत करने वाले तेज बहादुर यादव की अपील जब सरकार तक पहुंची तो गृहमंत्री ने जाँच के आदेश तो दे दिए लेकिन अब एक बात और सामने आ रही है वो ये कि जवान तेज बहादुर यादव का और विवादों का अक्सर सामना होता आया है l इस जवान के इतिहास को लेकर कई सनसनी खेज खुलासे हुए हैं, जिससे इस जवान पर संदेह की बात सामने आई है l

Advertisement


सूत्रों के मुताबिक बीएसएफ के जवान तेज बहादुर का करियर विवादों में रहा है, 20 साल की सेवा में तेज बहादुर को  4 बार कड़ी सजा भी मिल चुकी है l उस पर अपने कमांडेंट पर बंदूक तान देने तक का संगीन आरोप लग चुका है l बीएसएफ की ओर से प्रेस विज्ञप्ति जारी की गई है इसमें बताया गया है कि शुरूआती दिनों में तेज बहादुर को नियमित काउंसलिंग की जरूरत पड़ी थी l उसे ज्यादातर मुख्यालय पर ही ड्यूटी में रखा जाता था l उसे शराब पीने की भी बुरी लत थी l वह बिना बताए ड्यूटी से गायब भी रहता था लेकिन, 10 दिनों पहले ही उसे उक्त स्थान पर भेजा गया था l जिससे उसकी काउंसलिंग को लेकर उसके लाभ का आंकलन किया जा सके l इस बीच बीएसफ के पूर्व प्रमुख प्रकाश सिंह ने जवान की मंशा पर ही सवाल उठा दिए हैं l

Advertisement


बीएसफ जवान की मंशा पर सवाल उठाने के बावजूद सरकार मामले की निष्पक्ष जांच चाहती है और देखना होगा कि ये मामला आगे क्या रुख लेता है ?

देखिए वीडियो ” एक जवान की मोदी जी को अपील ” 

 

 

Comments

comments

Click to comment

Leave a Reply

Most Popular

To Top