Bewafa Shayri

Dilon Se Khelne Ka Hooner Hume Nahi Aata

दिलों से खेलने का हुनर हमे नहीं आता इसलिए इश्क की बाज़ी हम हार गए…!
मेरी ज़िन्दगी से शायद बहुत प्यार था इस लिए हमे जिंदा ही मार गए….!!

ღღ

“कोई खो के मिल गया तो कोई मिल के खो गया,
ज़िंदगी हम को बस ऐसे ही आज़माती रही …!”

ღღ

तेरी हालत से लगता है तेरा अपना था कोइ,
वरना इतनी सादगी से बरबाद कोइ गैर नहीँ करता।”

ღღ

हवा से कह दो कि खुद को आजमा के दिखाये.
बहुत चिराग बुझाती है, एक जला के दिखाये.

Comments

comments

Dilon Se Khelne Ka Hooner Hume Nahi Aata
Click to comment

Leave a Reply

Most Popular

To Top